उनके लिए, जो संविधान को उधारी का आइटम या बाहर से चेंपा गया बताते हैं

आज बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि है। इस मौके पर अम्बेडकर को लेकर सोशल मीडिया पर खूब लिखा जा रहा है। कई पोस्ट्स को देखकर हैरानी हुयी कि अम्बेडकर से जुड़ी वह सभी झूठी बातें जो सवर्णवादी दुराग्रही समाज में अफवाह के तौर पर अभी तक जिंदा है उन्हें सोशल मीडिया के जरिये स्थापित तथ्य […]

पढ़िये, कैसे देश पद्मावती प्रकरण को क्रिएटिव तरीके से जनता के भले के लिये भुना सकता है?

निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर पूरे देश में बहस चल रही है. तमाम पहलुओं पर लोग विचार और टिप्पणियां कर रहे हैं. इस बीच इस लेख को पढ़ा जाये, जो न तो किसी समुदाय विशेष की भावना आहत करने के लिये नहीं लिखा गया, न ही कला की रक्षा की सतही […]