December 29, 2017 By Avinash 0

रोहित वेमुला की मां ने कहा, आंध्र प्रदेश की टीडीपी-भाजपा सरकार दलितों के प्रति लापरवाह

रोहित वेमुला की मां ने कहा कि ‘रोहित की मौत देश के लिए दलितों के साथ एकजुटता से खड़े होने का संदेश है.’ आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में दलित छात्र रोहित वेमुला की माँ राधिका वेमुला दलितों के खिलाफ अत्याचार को ले कर मीडिया से बात कर रही थीं.

राधिका वेमुला ने कहा कि हाल के दिनों में, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश दोनों राज्यों में दलितों और हाशिए पर खड़े वर्गों के खिलाफ उत्पीड़न के कई मामले सामने आए हैं।

उन्होंने कहा हाल ही में गुंटूर के रवि कुमार ने अपने उच्च अधिकारियों से उत्पीड़ित होने के चलते आत्महत्या कर ली थी। तेलंगाना में भी एक दलित महिला को भी जिंदा जला दिया गया था। हाल ही में एक दलित महिला के टीडीपी कार्यकर्ताओं ने कपड़े उतार दिए क्योंकि वे सरकार के अत्याचारों का विरोध कर रही थी।

मीडिया और अन्य स्रोतों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में दलितों के खिलाफ उत्पीड़न के दर्ज मामलों में आंध्र प्रदेश 5 वें स्थान पर है।

राधिका वेमुला ने कहा, रोहित वेमुला ने दलितों की समस्याओं को ले कर संघर्ष करते हुए अपना जीवन त्याग दिया। यह सारे देश के लिए एक संदेश की तरह है ताकि दलित समुदाय के साथ सारा देश एकजुटता से खड़ा हो।

उन्होंने यह भी कहा कि फरवरी में मुख्यमंत्री चन्द्र बाबू नायडू ने एक बयान कहा था “दलित परिवार में कौन जन्म लेना चाहता है?” इससे समझ आता है कि वह दलित समुदाय के प्रति कितना लापरवाह रुख रखते हैं। यह जरूरी है कि भविष्य में इस तरह दलितों के खिलाफ अत्याचारों को दोबारा न दोहराए जायें। इस बातचीत के दौरान रोहित वेमुला के भाई भी वहीं मौजूद थे।

(संपादित: अविनाश द्विवेदी)

_____________________________________________________________________________

यह लेख आपने कठफोड़वा.कॉम पर पढ़ा. आगे भी हमारे लेख और वीडियोज़ पाते रहने के लिये हमें फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करें और यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें-

कठफोड़वा फेसबुक

कठफोड़वा ट्विटर

कठफोड़वा यूट्यूब